हरिद्वार : कोरोना पर भारी श्रद्धा का कुंभ स्नान , कोविड से 68 संक्रमित , महामंडलेश्वर की मौत

by Pawan Dev
हरिद्वार : कोरोना पर भारी श्रद्धा का कुंभ स्नान , कोविड से 68 संक्रमित , महामंडलेश्वर की मौत Kumbh Mela News Digpu

बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुयें – कुभं मेला का हो सकता हैं आज समापन्न  

12 साल में लगने वाला कुंभ इस बार हरीद्वार में लग रहा हैं लोग गंगा में दुबकी लगा कर अपने पाप के लियें  प्रयच्छति और भविष्य में सुख कल्याण की कामना कर रहें हैं यह श्रद्धा की बात हैं और किसी की भी श्रद्धा का सम्मान होना चाहियें लेकिन तमाम केंद्र व् राज्य उतराखंड सरकार के वादे जनता को कोरोना संक्रमण मुफ्त बाट रहें हैं पहले शाही स्नान के बाद 30 साधू कोरोना पॉजिटिव पायें गयें हैं जो की गंभीर चिंताजनक हैं |

निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर कपिल देव दास ( महाराज ) का कुभं स्नान में भाग लेने के बाद कोरोना संक्रमित हो गयें थे जिसके चलते उनका निधन हो गया उनकी उम्र 65 साल के  थे |

सूत्रों की माने तो साधु समाज कोरोना को लेकर डर गयें हैं क्योकि पहले शाही स्नान के बाद 70 के करीब साधू संक्रमित हो गयें हैं प्रमुख निरंजनी अखाड़ा , जूना अखाडा व् नागा संन्यासी अखाड़ा है इन अखाडो ने कहा है कि शाही स्नान के बाद उसके लिए कुंभ समाप्त हो गया है |

मेला प्रशासन में अनुसार गुरूवार को कुल 332 लोग संक्रमित पायें गयें हैं इन में मरने वाला को आकड़ा अभी मेला प्रशासन के पास नहीं हैं लेकिन 12 अप्रैल के बाद से 79301 लोगों का टेस्ट हुआ है जिनमें से 745 संक्रमित पाए गए हैं |

निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत रविन्द्र पूरी ने कहा हैं की उनके कैम्प में अधिकतर साधू और श्रद्धालुओं में कोविड जैसे लक्षण दिखाई दे रहे इसे देखते हुए संतों ने 17 अप्रैल से मेला समाप्त करने का फ़ैसला लिया है कुंभ मेला अधिकारिक तौर पर 30 अप्रैल को समाप्त होना है अगला शाही स्नान 27 अप्रैल को है |

ख़ास नज़र

आज पूरी दुनिया भारत को इस नज़र से देख रही हैं की कोविड 19 प्रबंधन में भारत ने अच्छा काम किया हैं इसके साथ ही इस वैश्विक आपदा में मित्र देशो को कोविड 19 की दवा भी उपलब्ध करवाई जो की कुटनीतिक रूप से भारत की छवि अंतर्राष्ट्रीय स्थर पर मजबूती प्रदान करती हैं लेकिन आज जब देश में कोविड 19 की दूसरी लहर चरम सीमा पर हैं जिसके परिणाम घातक सिद्ध हो रहें हैं मौतों के आकड़ें चिंताजनक हैं तो कुभं स्नान जैसे बड़े मेले की अनुमति प्रशासन कैसे दी और प्रथम शाही स्नान के बाद उतराखंड सरकार के सभी दावें हवा हवाई हो गयें इतने लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत अब आनन् – फानन में अब मेला खत्म करने की घोषणा कर रहें हैं कुंभ मेला में कोविड से हुई मौतों का देश व् विदेशी मीडिया ने प्रमुखता से दिखाया हैं जब पूरी दुनिया कोविड से त्रस्त हैं और भारत में कुभं शाही स्नान अंतर्राष्ट्रीय स्थर देश छवि को प्रभावित करता हैं |

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept

Privacy & Cookies Policy